slider राजस्थान सिरोही

नामान्तकरण की प्रति परते तुरंत जमा कराने के निर्देश दिए

 
सुमेरपुर।तहसील कार्यालय सुमेरपुर  भू अभिलेख शाखा के प्रभारी अधिकारी  नायब तहसीलदार सुमेरपुर द्वारा नामान्तकरण प्रति परत जमा करने के रजिस्टर का अवलोकन करने पर पाया कि तहसील क्षेत्र सुमेरपुर के माह दिसम्बर 2014 से जुलाई 2020 तक पटवारीगण द्वारा नामान्तकरण की प्रति परते आफिस कानूनगो के पास जमा नहीं कराई गई है।
जबकि राजस्थान लैण्ड रेवेन्यू ‘(लैण्डस रेकॉर्ड्स) रूल्स 1957 के नियम 121 (1)के तहत स्वीकृति के तुरंत बाद एवं डीआईएलआरएमपी परियोजना के तहत राज्य सरकार के निर्देशानुसार प्रत्येक माह की 5 व 20 तारीख को  ग्राम पंचायत की दो  बैठकें निर्धारित करते हुए बैठकों में स्वीकृतशुदा नामान्तकरणो को तहसील कार्यालय में जमा कराने के लिए 7 व 22 तारीख  पटवार बैठकें निर्धारित करते हुए नामान्तकरण की प्रति परते जमा कराने के आदेश के बावजूद भी पटवारीगण द्वारा नामान्तकरण की प्रति परते 6 वर्ष से जमा नहीं कराने को अत्यंत ही गम्भीर प्रवृत्ति का प्रकरण को लेकर ओमप्रकाश सरगरा नायब तहसीलदार सुमेरपुर द्वारा तहसील क्षेत्र के पटवारीगण को  पत्र  एवं स्मरण पत्र दिये जाकर नामान्तकरण की प्रति परते तुरंत जमा कराने के निर्देश दिए जाने पर पटवारीगण द्वारा माह जुलाई 2020 में 6514 नामान्तकरण की प्रति परते आफिस कानूनगो के पास जमा कराई गई है।
 जो नामान्तकरण की प्रति परते एक माह में जमा कराने का अपने आप में सुमेरपुर तहसील में एक ऐतिहासिक रेकॉर्ड रहा है। नामान्तकरण की प्रति परते आफिस कानूनगो के पास जमा होने से  काश्तकारो को धन एवं समय की बर्बादी की बचत के साथ ही नकलो के लिए पटवार हल्का के दफ्तरों के चक्कर काटने से राहत मिलेगी।एवं तहसील रेकॉर्ड रूम में रेकॉर्ड सुरक्षित व एक ही छत के नीचे काश्तकारो को सारी सुविधाएं उपलब्ध रहेंगी।

Breaking News

prev next

Advertisements

E- Paper

Advertisements

Our Visitor

1360717

Advertisements