राजस्थान

निराश्रित पशुओं को गोशालाओं में भेजें, हर ग्राम पंचायत का बने विलेज प्रोफाइलः डाॅ. सोनी

जिला कलक्टर ने साप्ताहिक समीक्षा बैठक व वीडियो कांफ्रेसिंग में दिए आवश्यक निर्देश
नागौर, 21 सितम्बर। जिला कलेक्टर डॉ जितेंद्र कुमार सोनी ने सोमवार को साप्ताहिक समीक्षा बैठक में शहर के बेसहारा पशुओं को गौशालाओं में भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने इस संबंध में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी उपखंड अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र में यह रिपोर्ट तैयार करें कि उनके क्षेत्र में कितने निराश्रित पशुधन को गौशाला में भिजवाया गया है।
जिला कलेक्टर डॉक्टर सोनी ने निर्देश दिया कि निराश्रित गोवंश के गौशालाओं में देखभाल के लिए गौशाला संचालकों को प्रेरित करने के साथ-साथ आवश्यकता पड़ने पर दानदाता-भामाशाहों से भी संपर्क किया जाए। उन्होंने संयुक्त निदेशक पशुपालन विभाग को निर्देश दिए कि वे जिले के सभी राजीव गांधी आईटी सेंटर पर विभाग के पशु चिकित्सक व पशुधन सहायक का नाम व नंबर अंकित करवाएं ताकि स्थानीय पशुपालकों को उनसे संपर्क साधने में सुविधा मिल सके।
उन्होंने संयुक्त निदेशक पशुपालन को निर्देश दिए गए कि वे पशु चिकित्सा अधिकारियों सहित पैरामेडिकल स्टाफ की ब्लॉक वाइज सूची तैयार कर भिजवाएं. जिला कलक्टर डॉ जितेंद्र कुमार सोनी ने सभी उपखंड अधिकारियों को पंचायत समिति स्तर पर नंदी शाला स्थापित करने के कार्य को भी पूर्ण करने के निर्देश दिए. बैठक के दौरान जिला कलेक्टर ने जायल के रोटू में ईकोट्रेल के स्वीकृत प्रस्ताव पर जल्दी काम शुरू करने के निर्देश सहायक वन संरक्षक को दिए।
साप्ताहिक बैठक के दौरान उपखंड स्तरीय अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत करते हुए जिला कलेक्टर ने जायल ब्लॉक में ग्राम पंचायत स्तर तक एडमिनिस्ट्रेटिव सिस्टम की प्रशंसा की. उन्होंने सभी उपखंड अधिकारियों व विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने क्षेत्र की ग्राम पंचायतों का विलेज प्रोफाइल बनवाएं और उसे अपडेट रखें. जिला कलक्टर ने जिला स्तरीय बैंक समिति की तर्ज पर ब्लॉक स्तर पर उपखंड अधिकारी की अध्यक्षता में गठित बैंक समिति की बैठक भी निर्धारित तिथि पर आयोजित करने के निर्देश दिए.
डॉ जितेंद्र कुमार सोनी ने बैठक के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में निर्देश दिए खेतों में अब गिरदावरी रिपोर्ट का समय आ गया है. उन्होंने कहा कि किसान के खेत में फसल की स्थिति को देखते हुए सही गिरदावरी रिपोर्ट की जाए, ताकि उन्हें फसल बीमा का फायदा मिल सके. उन्होंने जिला परिवहन अधिकारी को निर्देश दिए कि ओवरलोडिंग वाहनों के परिवहन पर अंकुश लगाने के साथ-साथ चालान भी काटे जाएं. जिला कलक्टर ने आयुर्वेद विभाग के अस्पतालों में नीम गिलोय सहित कई मेडिसिनल प्लांट लगाने के निर्देश दिए. उन्होंने महिला एवं बाल विकास विभाग के उप निदेशक को निर्देश दिए कि पोषण वाटिका को विकसित करने तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका के रिक्त पदों को भरने का कार्य जल्द से जल्द पूर्ण कर लिया जाए. किराए के भवनों में चल रहे आंगनवाड़ी केंद्रों को खाली पड़े सरकारी भवनों मेंकाम को मूर्त रूप देने के निर्देश दिए शिफ्ट करने के लिए जिला कलक्टर ने उपखंड अधिकारियों को संबंधित सीडीपीओ के  साथ मिलकर काम को मूर्त रूप देने के निर्देश दिए.
जिला कलेक्टर ने रास्ता खोलो अभियान के तहत अब तक मिली सफलता पर सभी उपखंड अधिकारियों व उनकी राजस्व टीम की सराहना की तथा उन्हें बताया कि अब तक खुलवाए गए राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज किए गए रास्तों को नागौर जिले की वेबसाइट पर अपलोड किया जा रहा है। उन्होंने सहायक निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को निर्देश दिए कि वे ऐसे सभी सरकारी कर्मचारियों को जो दिव्यांग हैं, की सूची तैयार करने के निर्देश दिए. जिला कलक्टर  उजास कार्यक्रम के तहत सरकारी स्कूलों के विद्युतीकरण का काम जल्द से जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।
डॉ जितेंद्र कुमार सोनी ने साप्ताहिक समीक्षा बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी उपखंड अधिकारी वह तहसीलदार को  निर्देश दिया कि वे हर सप्ताह गोचर पर अतिक्रमण से जुड़े एक प्रकरण का निस्तारण करने के निर्देश दिए. उन्होंने सरकारी प्रयोजनार्थ भूमि अवाप्ति व भूमि आवंटन से जुड़े मामलों का निस्तारण जल्द से जल्द करने के निर्देश दिए. जिला कलेक्टर ने सभी सरकारी कार्यालयों के मुख्य द्वार व सड़क के बीच में पौधरोपण करने के कार्य को आवश्यक रूप से करने के निर्देश दिए.
जिला कलक्टर ने सिलिकोसिस मरीजों को दी जाने वाली सरकारी सहायता के मामले में किसी भी प्रकार की कोताही न बरतने के निर्देश दिए. डॉक्टर सोनी ने जोधपुर में प्रमाणित किए हुए नागौर में निवास कर रहे सिलिकोसिस पीड़ित मरीजों को भी सिलिकोसिस नीति के अनुसार सरकारी सहायता का लाभ दिलाने के निर्देश दिए. जिला कलेक्टर ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि जिन सड़कों का वर्क आर्डर जारी हो चुका है, उनका कार्य जल्द से जल्द प्रारंभ किया जाए. डॉक्टर सोनी नगर परिषद आयुक्त व नगर पालिका अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिए कि राज्य सरकार की महत्वकांक्षी व जनकल्याणकारी इंदिरा रसोई योजना आमजन को गुणवत्ता युक्त भोजन देने के साथ-साथ इसके लिए निर्धारित किए गए लक्ष्यों को पूरा किया जाए।
जिला कलक्टर ने नगर परिषद आयुक्त व नगर पालिका अधिशासी अधिकारी को निर्देश दिए कि वे अपने शहर को स्वच्छ व सुंदर बनाएं तथा अधिक से अधिक पौधरोपण करते हुए हरियाली विकसित करें. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समस्त उपखंड अधिकारियों से कहा कि वे अपने क्षेत्र में खेलों के विकास के लिए कार्य करें.
बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला कलेक्टर मनोज कुमार ने पंचायतराज  संस्थाओं के चुनाव 2020 के सफल संचालन को उपखंड अधिकारियों सहित ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए. उन्होंने पंचायत राज चुनाव 2020 को लेकर अब तक की गई तैयारियों की समीक्षा भी की. जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जवाहर चैधरी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए विकास अधिकारियों से मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास सहित ग्रामीण विकास की विभिन्न योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट जानते हुए उसकी  समीक्षा की.
एनीमिक गर्भवती महिलाएं व दिल में छेद वाले बच्चों को चिन्हित करें
जिला कलक्टर डॉ जितेंद्र कुमार सोनी ने साप्ताहिक समीक्षा बैठक में मौजूद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुकुमार कश्यप् को निर्देश दिया कि वे जिले में एनीमिया से ग्रसित गर्भवती महिलाओं तथा जन्मजात दिल में छेद की बीमारी से ग्रसित बच्चों की सूची तैयार कर प्रस्तुत करें. उन्होंने इस कार्य में मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी अजय कुमार बाजपेयी व  महिला एवं बाल विकास विभाग के दुर्गा सिंह उदावत को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग का शिक्षकों व  आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से पूर्ण सहयोग करने के निर्देश दिए। बैठक में जिला रसद अधिकारी पार्थ सारथी, सहायक निदेशक लोक सेवाएं दमयंती कँवर,  उपखंड अधिकारी नागौर अमित चैधरी, एवीवीएनएल के अधीक्षण अभियंता आरबी सिंह, सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के संयुक्त निदेशक योगेश कुमार, नागौर पेयजल लिफ्ट परियोजना के अधीक्षण अभियंता अजय कुमार शर्मा, एसीएम रामजस विश्नोई, जिला परिवहन अधिकारी ओम प्रकाश चैधरी, सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता सत्येंद्र सिंह, उपनिदेशक कृषि विस्तार हरजी राम चैधरी, महिला अधिकारिता विभाग के अशोक गोयल व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक रामदयाल सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे.

Breaking News

prev next

Advertisements

E- Paper

Advertisements

Our Visitor

1360715

Advertisements