क्राईम ताज़ा खबर नागौर राजस्थान

नागौर; बासनी रोड़ पर 22 लाख की लूट का राज़ आखिर क्या?

नागौर/गिरवरसिंह चौहान. सदर थाना क्षेत्र के बासनी रोड पर शुक्रवार रात को अज्ञात बदमाशों ने बासनी निवासी प्रोपर्टी डीलर के साथ मारपीट कर 22 लाख रुपए लूट लिए। घटना के बाद प्रोपर्टी डीलर ने सदर थाने में रिपोर्ट दी, जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मुआयना किया तथा मामला दर्ज कर लूटेरों की तलाश शुरू की है, लेकिन तीन दिन बाद भी आरोपियों का सुराग नहीं लग पाया है।

जानकारी के अनुसार बासनी के बेहलिम मोहल्ला निवासी अबू बकर (58) पुत्र मोहम्मद सरदार बेहलिम मुसलमान ने थाने में रिपोर्ट देकर बताया कि 13 नवम्बर शाम करीब सात बजे वह अब्दुल वाहिद पुत्र हाजी फकरुदीन के उसकी स्कूटी पर सवार होकर बासनी से नागौर आए। यहां आने के बाद अब्दुल वाहिद को उसने गांधी चौक में कोई काम होने से उतार दिया तथा वह अपने काम से बाजार चला गया। बाजार से फ्री होकर उसके प्रोपर्टी पार्टनर सुभाष पारीक के पास गया, जहां उसने सुभाष से प्रोपर्टी के हिसाब के 22 लाख रुपए नकद प्राप्त किए और स्कूटी की डिग्गी में रखकर वहां से रवाना होकर मानासर चौराहा पहुंचा, यहां पर अब्दुल वाहिद मिल गया। वहां से दोनों फिर स्कूटी पर सवार होकर बासनी के लिए रवाना हो गए। बासनी रोड स्थित फ्रायर बिग्रेड भवन के पहुंचे तो वहां एक मोटरसाइकिल खड़ी थी, उक्त मोटरसाइकिल वाले ने उन्हें देखकर पीछा करना शुरू कर दिया। थोड़ी देर में वह उन्हें क्रॉस कर आगे निकल गया।

करीब पौने 10 बजे बासनी रिंग रोड पुलिया से थोड़ा पहले पहुंचे थे कि सामने दो-तीन मोटरसाइकिले खड़ी थी, जिसमें एक मोटरसाइकिल चालक वह था, जिसने उनका पीछा किया था। परिवादी ने बताया कि वहां काफी अंधेरा था, तीन-चार व्यक्तियों ने उनका रास्ता रोककर आड़े फिर गए। नीचे उतरने से पहले ही उन्होंने उसके साथ थापा मुक्कों से मारपीट करनी शुरू कर दी, जिससे घबराकर वे इधर-उधर दौडऩे लगे तो बदमाशों ने उसे वहीं घेर कर कहा कि जान से मार देंगे, नहीं तो तुम्हारे पास जो रुपए है, वह दे दो। उसने कहा कि कुछ नहीं है, तो उन्होंने कहा कि तुम्हारी स्कूटी डिग्गी खोलो, नहीं तो तुम्हें मारे बिना नहीं छोड़ेंगे, फिर उन्होंने उससे स्कूटी की चाबी छीन ली तथा स्कूटी की डिग्गी खोलकर उसमें रखे 22 लाख रुपए लूट लिए और धमकी दी कि किसी को बता दिया तो जान से मार देंगे। इसके बाद आरोपी मोटरसाइकिलें लेकर फरार हो गए। पीडि़त ने बताया कि आरोपियों की उम्र 20 से 30 साल के बीच है तथा सभी स्थानीय भाषा बोल रहे थे।

सीसी टीवी फुटेज देख रहे हैं
शनिवार शाम को लूट का मामला दर्ज करने के बाद सदर थानाधिकारी नंदकिशोर वर्मा ने मौका देखा तथा लूटेरों पता लगाने के लिए रास्ते के सीसी टीवी फुटेज देखे हैं। वर्मा ने बताया कि दो दिन दीपावली का अवकाश होने के कारण थोड़ी देरी हुई है, लेकिन सोमवार से सीडीआर निकालकर कर संदिग्धों के बारे में पता लगाया जा रहा है। फिलहाल पुलिस आरोपियों का सुराग लगाने में सफल नहीं हो पाई है।

Breaking News

prev next

Advertisements

E- Paper

Advertisements

Our Visitor

1546406

Advertisements