दिल्ली राजस्थान

दिल्ली में बिल्कुल फ्री दी जाएगी वैक्सीन, राजस्थान के लिए क्या है आदेश, पढ़े पूरी खबर

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में लोगों के लिए दवाइयां और इलाज मुफ्त है. कोरोना वैक्सीन भी बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी.

दिल्ली वालों को मुफ्त मिलेगी कोरोना वैक्सीन (पीटीआई)

दिल्ली वालों को मुफ्त मिलेगी कोरोना वैक्सीन

मो.इल्यास

  • नई दिल्ली
  • दिल्ली में लोगों के लिए दवाइयां और इलाज मुफ्त
  • कोरोना वैक्सीन भी दी जाएगी बिल्कुल मुफ्त
  • पहले चरण में 51 लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य

दिल्ली के लोगों के लिए मुफ्त कोरोना वैक्सीन की व्यवस्था की गई है. वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मियों को दी जाएगी. उसके बाद पहले चरण में करीब 51 लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य रखा गया है. सभी वैक्सीन केंद्रों को अस्पतालों के साथ जोड़ा गया है, जिससे कि अगर वैक्सीन देने के बाद कोई दुष्प्रभाव नजर आता है तो मरीज को तत्काल इलाज की सुविधा दी जा सके.  

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में लोगों के लिए दवाइयां और इलाज मुफ्त है. कोरोना वैक्सीन भी बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी. दिल्ली में तीन जगह वेंकटेश्वर अस्पताल, जीटीबी अस्पताल और दरियागंज की डिस्पेंसरी में वैक्सीन का ड्राई रन किया जा रहा है. दिल्ली सरकार एक दिन में एक लाख लोगों को वैक्सीन लगाने की तैयारी कर चुकी है.

स्वास्थ्य मंत्री के मुताबिक वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को दी जाएगी. पहले चरण में 51 लाख लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य है. उन्होंने कहा कि सभी वैक्सीन केंद्रों को अस्पतालों के साथ जोड़ा गया है, ताकि अगर वैक्सीन का दुष्प्रभाव पड़ता है, तो मरीज को तत्काल इलाज दिया जा सके.

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शनिवार को दरियागंज स्थित डिस्पेंसरी में किए जा रहे कोविड वैक्सीन के ड्राई रन का मुआयना किया. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि दिल्ली के अंदर आज कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन  किया जा रहा है. मैंने उसका मुआयना किया है. पूरी दिल्ली में वैक्सीन देने की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने कहा, वैक्सीन के लिए हम दिल्ली में लगभग एक हजार केंद्र तैयार करेंगे. दिल्ली में आज तीन जगह पर ड्राई रन चल रहा है. दिल्ली के निजी अस्पताल वेंकटेश्वर, दिल्ली सरकार के जीटीबी अस्पताल और दरियागंज स्थित डिस्पेंसरी में ड्राई रन चल रहा है. मेरे इस दौरे का मकसद यह देखना था कि तीनों तरह के निजी, सरकारी और डिस्पेंसरी में ड्राई रन का सेटअप किस तरह करना है. तीनों में ड्राई रन करके देखा जा रहा है. ड्राई रन का सिस्टम बिल्कुल ठीक बनाया गया है. इसके बारे में मैंने अस्पताल प्रबंधन से सब कुछ पूछा है.

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि जब किसी को वैक्सीन दे दी जाएगी, तो उस व्यक्ति को आधे घंटे के लिए निगरानी में रखा जाएगा. सभी वैक्सीन केंद्रों को किसी ना किसी अस्पताल के साथ जोड़ा गया है. कई केंद्र तो खुद अस्पताल में ही बनाए गए हैं. इसके अलावा, जो केंद्र अस्पताल से अलग बनाए गए हैं, उनको किसी न किसी अस्पताल से जोड़ दिया गया है. वैक्सीन देने को लेकर हमारी तैयारियां पूरी हो चुकी है. उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि दिल्ली सरकार एक दिन में एक लाख तक वैक्सीन लगाने की तैयारी कर चुकी है. हम लोग शुरुआत में वैक्सीन सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को लगाएंगे. इसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर जैसे पुलिस, सफाई कर्मचारी, जल बोर्ड के कर्मचारियों को वैक्सीन लगाई जाएगी. तीसरे नंबर पर 50 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों और गंभीर बीमारियों से ग्रसित 50 साल से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी. दिल्ली में पहले चरण में लगभग 51 लाख लोगों को वैक्सीन दी जाएगी.   मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली के अंदर वैसे ही सभी दवाइयां और इलाज मुफ्त हैं और अब वैक्सीन भी बिल्कुल मुफ्त दी जाएगी. इसके लिए हमने हर जगह पर निगरानी स्टेशन बनाए हैं. वैक्सीन लगवाने के लिए जो भी लोग आएंगे, उन्हें 10-10 के समूह में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ बैठाया जाएगा. वैक्सीन लगने के बाद आधे घंटे तक उनकी निगरानी की जाएगी. अगर किसी को हल्का भी सिर दर्द महसूस होता है या कोई अन्य परेशानी होती है, तो इसके लिए इमरजेंसी रूम भी बनाया है. साथ ही, अस्पताल के साथ लिंक भी किया गया है. जरूरत पड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती किया जाएगा.दिल्ली में कोरोना केस की संख्या कम होने की उम्मीददिल्ली में कोरोना की वर्तमान स्थिति के बारे में पूछे जाने पर स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में कुल 585 नए केस सामने आए हैं. दिल्ली में सकारात्मकता दर 0.73 प्रतिशत रही और सकारात्मकता दर में लगातार गिरावट आ रही है. हमें उम्मीद है कि बहुत जल्द ही दिल्ली में प्रतिदिन आ रहे नए केस की संख्या भी 500 से कम हो जाएगी. उन्होंने आगे कहा, अस्पतालों में बेड की उपलब्धता कम करने के बावजूद अभी भी 10,500-11,000 बेड खाली हैं. वर्तमान में केवल 2000 बेड पर ही मरीज हैं. जहां तक नए स्ट्रेन का सवाल है, दिल्ली में 40 केस का पता लगाया गया है और उन्हें एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इसके साथ ही 4 निजी अस्पतालों को भी इसके लिए अधिकृत किया गया है. इसे लेकर हम पूरी तरह से गंभीर हैं और किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।

About the author

Maheka Sansar

Maheka Sansar

Breaking News

prev next

Advertisements

E- Paper

Advertisements

Our Visitor

1414563

Advertisements