जयपुर ताज़ा खबर राजनीति राजस्थान

वसुंधर राजे की अमित शाह से मुलाकात के बाद अचानक क्यों एक्टिव हुए सतीश पूनियां, टोंक में शक्ति प्रदर्शन से की शुरुआत


गहलोत सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर, 2023 में जनता के आशीर्वाद से राजस्थान कांग्रेस मुक्त हो जाएगा: डाॅ. पूनियां


………..
भर्तियों को पूरी करने की मांग को लेकर जयपुर में धरना दे रहे युवाओं से बातचीत कर समाधान निकाले गहलोत सरकार: डाॅ. पूनियां


………..
निवाई, मालपुरा, टोडारायसिंह में कार्यकर्ताओं ने रोड शो कर डाॅ. पूनियां का भव्य स्वागत किया
…………

जयपुर, 17 फरवरी। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां टोंक जिले के प्रवास पर रहे, जहां उन्होंने निवाई, मालपुरा और टोडारायसिंह नगर पालिकाओं के पदभार ग्रहण कार्यक्रम को संबोधित कियाl जयपुर से लेकर निवाई और मालपुरा और टोडारायसिंह तक विभिन्न स्थानों पर डाॅ. पूनियां का कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया और तीनों ही नगर पालिका कस्बों में रोड शो कर डाॅ. पूनियां का भव्य स्वागत किया गया ।

डाॅ. पूनियां के साथ कार्यक्रमों में राष्ट्रीय मंत्री अलका गुर्जर, टोंक सवाई माधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया, प्रदेश मंत्री अशोक सैनी, महेंद्र यादव, जिला प्रमुख सरोज बंसल, पूर्व मुख्य सचेतक महावीर जैन, जिला अध्यक्ष राजेंद्र पराणा, विधायक कन्हैयालाल चौधरी, निवाई के चेयरमैन दिलीप इसरानी, मालपुरा चेयरमैन मनीषा सोनी, टोडारायसिंह चेयरमैन भरत, युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश महामंत्री राजेश गुर्जर, निवाई प्रभारी मनोज चौधरी सहित तमाम नेता एवं कार्यकर्ता मौजूद रहेl

डाॅ. सतीश पूनियां ने जिले की इन नगर पालिकाओं के पदभार ग्रहण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य की गहलोत सरकार विद्वेष पर तुली है, प्रदेश के किसान और युवा सहित सभी वर्ग गहलोत सरकार के कुशासन से परेशान हैं।

डाॅ. पूनियां ने कहा कि 2014 में देश में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में राजनीतिक क्रांति हुई, जिन्होंने देश में बुनियादी और वैचारिक मुद्दों का समाधान किया और इसी के साथ कांग्रेस मुक्त भारत का आगाज हुआ और 2023 में जनता के आशीर्वाद से ही राजस्थान कांग्रेस मुक्त हो जाएगाl

डाॅ. पूनियां के कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में स्वच्छ भारत अभियान, पीएम सम्मान किसान निधि योजना सहित तमाम जनकल्याणकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं, देश का हर वर्ग आर्थिक उन्नति के साथ आत्मनिर्भर बन रहा हैl

उन्होंने कहा कि पहली बार अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने 1999 में छोटे-छोटे सुधारों से विकास की नई क्रांति की शुरुआत की और परमाणु परीक्षण कर भारत की ताकत का एहसास भी दुनिया को कराया था और वाजपेयी सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना इत्यादि योजनाओं से ग्रामीण भारत के विकास की मजबूत नींव रखी और इन्हीं कामों को मजबूती से आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री मोदी भारत को आत्मनिर्भर बनाते हुए देश के स्वाभिमान को दुनियाभर में बढ़ा रहे हैं और मोदी सरकर के नेतृत्व में ही 70 ऐतिहासिक फैसले लिए गए हैं, जिनसे भारत हर क्षेत्र में तेजी से तरक्की कर रहा हैl

डाॅ. पूनियां ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार द्वारा ग्रामीण और शहरी विकास के लिए पूरा पैसा पहुंचता है और कांग्रेस के शासन में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी कहा करते थे कि दिल्ली से ₹1 भेजते हैं तो गांव तक 15 पैसे ही पहुंचते हैं, तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि किस तरह कांग्रेस के शासन में भ्रष्टाचार थाl प्रधानमंत्री मोदी ने इच्छाशक्ति दिखाई और भ्रष्टाचार पर नकेल कसने का काम कियाl इसके अलावा जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का ऐतिहासिक फैसला कर विकास की नई इबारत लिखी, अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ, सहित तमाम बुनियादी और वैचारिक मुद्दों का समाधान हुआ हैl

डाॅ. पूनियां ने कहा कि हाल ही में हुए 90 निकायों के चुनाव, इससे पहले 50 निकायों और 21 जिलों के पंचायती राज चुनाव , इन सभी चुनावों में जनता ने सत्तारूढ़ कांग्रेस को सबक सिखाते हुए भाजपा को अच्छी जीत आशीर्वाद दिया है, वैसे इन चुनावों में सत्तारूढ़ पार्टी ही चुनाव जीतती रही है, लेकिन पहली बार विपक्षी दल ने शानदार जीत दर्ज की, इससे स्पष्ट हो चुका है कि प्रदेश में गहलोत सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर बन चुकी है और आगामी विधानसभा चुनाव 2023 में राजस्थान कांग्रेस मुक्त हो जाएगाl

डाॅ. पूनियां ने कहा कि कांग्रेस सरकार के अंदर विग्रह और झगड़ा है, जिससे सरकार पूरी तरह कमजोर हो चुकी है, लंबित भर्तियों को पूरी करने की मांग को लेकर राजधानी जयपुर में पिछले कई दिनों से धरना चल रहा है, लेकिन धरना दे रहे युवाओं से गहलोत सरकार ने अभी तक बातचीत की पहल नहीं की है, धरने में शामिल कई महिलाओं के तबीयत खराब होने की भी जानकारी आई है, लेकिन गहलोत सरकार संवेदनहीन बनी हुई हैl

डाॅ. पूनियां ने कहा कि गहलोत सरकार ना संपूर्ण किसान कर्जमाफी का वादा पूरा कर रही है, ना ढाई लाख संविदा कर्मियों को नियमित करने का वादा पूरा कर रही है और ना ही लंबित भर्तियों को पूरा कर रही है जिससे प्रदेश का हर वर्ग हताश एवं परेशान हैl

डाॅ. पूनियां ने कहा कि कांग्रेस ने 50 साल के शासन में लूट और झूठ का खेल खेला, राजस्थान शांतिप्रिय प्रदेश माना जाता था लेकिन गहलोत सरकार के कुशासन में अब तक 6 लाख़ से अधिक मुकदमे दर्ज हो चुके हैं, महिलाओं और दलितों पर हो रहे अत्याचारों से प्रदेश कलंकित हो रहा है, बजरी माफियाओं के आतंक से आमजन में भय है, अपराधियों के हौसले बुलंद हैंl

डाॅ. पूनियां ने कहा कि गहलोत सरकार और कांग्रेस संगठन के अंदर विग्रह है, झगड़ा है जो जगजाहिर है, मुख्यमंत्री गहलोत भाजपा के नेताओं पर सरकार गिराने का आरोप लगाते हैं, जबकि हकीकत यह है कि झगड़ा इनके घर का है, कांग्रेस सरकार और इनके संगठन के हालात ऐसे हो चुके हैं कि वे गिर खुद रहें, बचाने का ठेका हमने थोड़ी ले रखा हैl निवाई, मालपुरा और टोडारायसिंह की जनता ने भाजपा को जिताकर v गहलोत सरकार को खुली चुनौती दी है और कांग्रेस की विदाई की शुरुआत कर दी है l

Breaking News

prev next

Advertisements

E- Paper

Advertisements

Our Visitor

1454475

Advertisements