COVID-19 जयपुर ताज़ा खबर राजस्थान

अनलॉक से पहले मुख्यमंत्री #अशोक_गहलोत ने विकास कार्याें की झड़ी लगा दी, जोधपुर वाले खुश हो गए

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने कहा कि राज्य सरकार संवेदनशील, पारदर्शी (Sensitive, Transparent) और जवाबदेह सुशासन की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही है. कोविड की चुनौती के बावजूद विकास कार्याे में कोई कमी नहीं आने दी है. हमने इस वित्तीय वर्ष के बजट में हर क्षेत्र और हर वर्ग के विकास को ध्यान में रखकर घोषणाएं की हैं.

घोषणाओं को निर्धारित टाइमलाइन के अनुसार पूरा करना सर्वोच्च प्राथमिकता:
इन घोषणाओं को निर्धारित टाइमलाइन (Time Line) में पूरा करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है. उन्होंने कहा कि जनता से जो भी वादे किए गए हैं, उन्हें समयबद्ध रूप से धरातल पर उतारने के लिए सरकार समर्पण भाव के साथ जुटी हुई है. हमारा पूरा प्रयास है कि आमजन की तकलीफें दूर हों और राजस्थान विकास की नई ऊंचाइयां छुए. गहलोत रविवार को मुख्यमंत्री निवास (CMR) से वीडियो कॉन्फ्रेंस (video conference) के माध्यम से जोधपुर जिले में विभिन्न 20 विकास कार्यों के लोकार्पण एवं शिलान्यास समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने 2 करोड़ 10 लाख रूपए की लागत से 5 कार्यों का लोकार्पण तथा 113 करोड़ 38 लाख रूपए की लागत से 15 कार्याें का शिलान्यास किया.

सड़कों का तेजी से विकास हुआ: 
मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़कें विकास की धुरी हैं, इसलिए राज्य सरकार की प्राथमिकता है कि प्रदेशभर में सड़कों के विकास में किसी तरह की कमी नहीं रहे. हमारा यह भी प्रयास है कि सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखा जाए. राजस्थान में विगत वर्षों में सड़कों का तेजी से विकास हुआ है. राष्ट्रीय राजमार्गों का दायरा बढ़ा है, इसका लाभ यहां की जनता को मिल रहा है. राज्य सरकार बिजली, पानी, सड़क सहित आधारभूत सुविधाओं के विकास के साथ-साथ सामाजिक सुरक्षा पर भी विशेष जोर दे रही है. कोविड के इस चुनौतीपूर्ण दौर में जरूरतमंद लोगों को सामाजिक सुरक्षा की आवश्यकता और अधिक बढ़ गई है.

प्रदेशवासी कोविड प्रोटोकॉल की निरंतर पालना करें:
गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार के बेहतरीन प्रबंधन से कोरोना संक्रमण में तेजी से गिरावट आई है, लेकिन संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है और तीसरी लहर की आशंका भी बनी हुई है. इसे ध्यान में रखते हुए प्रदेशवासी कोविड प्रोटोकॉल की निरंतर पालना करें. मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेसिंग रखने में किसी तरह की लापरवाही नहीं करें. अन्यथा हमारे अब तक के प्रयास बेकार हो जाएंगे. राज्य सरकार की यह मंशा नहीं रहती है कि जनता को लॉकडाउन की तकलीफ का सामना करना पडे़, लेकिन जीवन रक्षा के लिए ऎसे कदम उठाने पड़ते हैं. हमारा प्रयास यह होना चाहिए कि भविष्य में लॉकडाउन लगाने की जरूरत ही नहीं पडे़.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण की दिशा में प्रभावी कदम उठाए गए हैं. थानों में उचित माहौल में फरियादियों की सुनवाई के लिए स्वागत कक्षों का निर्माण, अनिवार्य एफआईआर रजिस्टे्रशन जैसे फैसलों से आमजन का पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा है.

इन कार्यों का लोकार्पण:

1- पुलिस थाना नागौरी गेट (273.40 लाख)

2- विधायक निधि से सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र के महामंदिर पुलिस थाने में स्वागत कक्ष

3- विधायक निधि से सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र के उदयमंदिर पुलिस थाने में स्वागत कक्ष

4- विधायक निधि से सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र के मण्डोर पुलिस थाने में स्वागत कक्ष (उपरोक्त तीनों स्वागत कक्षों की कुल लागत 21 लाख)

5- नवसृजित पर्यटक पुलिस थाना, जोधपुर

इन कार्यों का शिलान्यास:

1- पावटा मंडी क्षेत्र, जोधपुर में आधुनिक बस स्टैंड (3800 लाख)

2- मंडोर मंडी (अनाज), भदवासिया के 1 लाख 23 हजार वर्ग फीट भूमि पर 11 कार्यालय मय 5 प्रयोगशालाओं का निर्माण कर किसान कॉम्प्लेक्स बनाने का कार्य (1928.47 लाख)

3- सम्पर्क सड़क मंडोर से सूरसागर वाया बालसमंद चुंगी नाके के पास से पीएचईडी कार्यालय तक चौड़ाईकरण एवं सृदृढ़ीकरण (360 लाख)

4- सम्पर्क सड़क ड़िगाडी किमी 0/0 से 2/0 तक का निर्माण कार्य (287 लाख)

5- लाल सागर से मगरा सड़क किमी 0/0 से 0/630 तक का निर्माण कार्य (231 लाख)

6- लिंक रोड पावटा क्रॉसिंग से मेडती गेट किमी 0/400 से 0/850 तक का निर्माण कार्य (150 लाख)

7- मेडती गेट से स्टेडियम सड़क किमी 0/0 से 0/600 तक का निर्माण कार्य (101 लाख)

8- लिंक रोड बासनी ओवर ब्रिज से एनएच-112 जवाई नहर के साथ तक चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य (752 लाख)

9- इंजीनियरिंग कॉलेज से लोको शैड वाया गन्दा नाला तक निर्माण कार्य (112 लाख)

10- एआर रातानाडा से पीडब्ल्यूडी क्रॉसिंग वाया फ्लैग स्टॉफ हाउस का निर्माण कार्य (40 लाख)

11- डांगियावास-गुडा-काकाणी-लूणी-धुन्धाड़ा-समदड़ी सड़क के किमी 23/500 से 58/00 का चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य (2700 लाख)

12- माणकपुर से बासनी हरिसिंह किमी 0/0 से 6/0 तक का चौड़ाईकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य (420 लाख)

13- पालड़ी राणावता आसण्डा सड़क किमी 1 से कबीर आश्रम लवारी सड़क किमी 0/0 से 7/0 तक डामर सड़क निर्माण कार्य (201 लाख)

14- सुरपुरा-हिंगोली-लवारी किमी 0/0 से 6/500 डामर सड़क निर्माण कार्य (196 लाख)

15- ढण्ढोरा से मंगेरिया किमी 2/500  से 5/0 तक डामर सड़क निर्माण कार्य (60 लाख)

About the author

Maheka Sansar

Maheka Sansar

Breaking News

prev next

Advertisements

E- Paper

Advertisements

Posts

Our Visitor

1571117

Advertisements