एवरेस्ट और एमडीएच ब्रांड के मसालों के अनसेफ आने के बाद जोधपुर में भी सीज की कार्यवाही

जोधपुर के खाद्य सुरक्षा टीम ने लिए नमूने, एमडीएच और एवरेस्ट मसालों को तत्काल प्रभाव से सीज के दिए आदेश के बाद खाद्य निरीक्षक ने की कार्यवाही

 

जोधपुर। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा के निर्देशों पर आमजन को शुद्ध खाद्य सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने की दृष्टि से प्रदेश में मिलावट के खिलाफ निरंतर अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत की गई प्रभावी कार्रवाई में देश की नामी मसाला कम्पनियों के उत्पाद अनसेफ पाए गए हैं। माननीय चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री गजेन्द्र सिंह खींवसर ने इन कम्पनियों के विरूद्ध भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने तथा इन अनसेफ मसालों को तत्काल प्रभाव से सीज किए जाने के निर्देश दिए हैं।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की अतिरिक्त मुख्य सचिव शुभ्रा सिंह ने दैनिक महका संसार को बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में मसालो के सैम्पल लेने के लिए 8 मई, 2024 को विशेष अभियान चलाया गया था। इस अभियान के तहत नामी कम्पनियों सहित विभिन्न कम्पनियों के मसालों के प्रदेशभर मे नमूने लिए गए। राज्य केंद्रीय जनस्वास्थ्य प्रयोगशाला की जांच रिपोर्ट के अनुसार कुछ नमूनों मंे पेस्टीसाइड एवं इनसेक्टीसाइड की मात्रा काफी अधिक पाई गई।

मुख्य चिकित्सा एवम स्वास्थ अधिकारी जोधपुर शहर डॉक्टर सुरेंद्र सिंह शेखावत ने दैनिक महका संसार को बताया कि खाद्य सुरक्षा एवम औषधि नियंत्रण आयुक्तालय के निर्देशन में शनिवार को जोधपुर में खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की दो टीमों ने अलग-अलग जगह एवरेस्ट एवं एमडीएच ब्रांड के सात मिक्स मसाले के नमूने खाद्य सुरक्षा एवम मानक अधिनियम 2006 के अन्तर्गत वास्ते जांच हेतु संग्रहित किए गए हैं जिनको राज्य की खाद्य सुरक्षा प्रयोगशाला में जांच हेतु भिजवाया जाएगा।