पाम तेल से घी बनाने की आशंका से 289 किलो घी और 133 किलो पाम आयल जब्त

जालोर। राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा एवं चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर के निर्देशों के अनुसार पूरे प्रदेश में शुद्ध आहार मिलावट पर वार अभियान चलाया जा रहा है इसी के चलते जालौर में पाम तेल से घी बनाने की आशंका को लेकर खाद्य सुरक्षा टीम ने एक डेयरी पर कार्यवाही की है। टीम ने मेडा उपरला गांव मैं सारणेश्वर डेयरी पर निरीक्षण करने के दौरान 133 किलो पाम ऑयल एवं 289 किलो घी को सीज किया है खाद्य सुरक्षा दल की ओर से इस दौरान डेयरी से पांच सैंपल भी लिए गए हैं जिन्हें जांच के लिए जन स्वास्थ्य प्रयोगशाला जोधपुर भिजवाया गया है। खाद्य पदार्थों में मिलावट पर अंकुश लगाने के लिए खाद्य सुरक्षा आयुक्त इकबाल खान, अतिरिक्त आयुक्त पंकज ओझा एवं जिला कलेक्टर पूजा पार्थ के निर्देश पर यह कार्यवाही की गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर रमाशंकर भारती ने बताया कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी हनवंत सिंह के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा टीम ने सारणेश्वर मिल्क डेरी फार्म का निरीक्षण किया। इस दौरान जांच के लिए भैंस का दूध, खुला घी, मिल्क क्रीम और पाम ऑयल के पांच नमूने लिए गए हैं एवं डेयरी पर पाम ऑयल के 9 डब्बे पाए जाने एवं पाम ऑयल से घी बनाने की आशंका पर 289 किलो घी एवं 133 किलो पाम ऑयल को मौके पर ही सीज किया गया है। टीम ने सभी नमूने जांच के लिए जन स्वास्थ्य प्रयोगशाला जोधपुर को भिजवाए है रिपोर्ट आने पर नियम अनुसार कार्यवाही की जाएगी।