श्रीमूल ब्रांड का 2655 लीटर ब्रांड घी किया सीज, विभिन्न पैकिंग के 170 लीटर कार्टून को किया जब्त

पुलिस की नाकेबंदी के दौरान रुकवाई गई गाड़ी, 330 रुपए किलो घी के बिल देखने पर पुलिस ने खाद्य सुरक्षा टीम को बुलाया

जोधपुर। पुलिस द्वारा डी मार्ट के सामने रात्रि कालीन नाकेबंदी के दौरान गुजरात से आ रही पिकअप को रुकवाया जांच करने पर उसमें घी पाया गया
थानाधिकारी जितेंद्र सिंह ने बताया कि गुरुवार सुबह पाली की तरफ से आ रही श्रीमुल गाड़ी की पिकअप को रुकवाया गया उसकी जांच में देसी घी के श्री मूल ब्रांड के कार्टून मिले पर चालक से कागजात मांगे गए उन कागजातों में देशी घी का भाव 330 प्रति किलो की दर्ज था। इतनी कम रेट में देसी घी मिलना नामुमकिन है इसके चलते गाड़ी को थाने में लाया गया एवं उसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम को सूचित किया गया इस पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी रजनीश शर्मा एवं विजय कंवर मौके पर पहुंचे और उन्होंने कार्यवाही शुरू की।
प्रदेश में लगातार नकली घी के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है इसको लेकर चिकित्सा विभाग के साथ-साथ पुलिस नाकाबंदी के दौरान गाड़ी की जांच की जा रहीं है जांच करने पर 170 कार्टून विभिन्न पैकिंग में उपलब्ध थे प्रथम दृष्टया देखने पर घी मिलावटी दिखाई दे रहा था पुलिस ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को बुलाया खाद्य सुरक्षा अधिकारी रजनीश शर्मा और विजय कंवर ने गाड़ी में बरामद सभी कार्टून को सीज किया एवं विभिन्न पैकिंग में उपलब्ध घी के सैंपल भी लिए।

हूबहू अमूल घी जैसी पैकिंग करके सस्ता घी बेचा जा रहा था

थाने में रखें श्रीमूल घी के पैकेट देखने पर पता चलता है कि इस घी को प्रसिद्ध ब्रांड अमूल की तरह पैकिंग किया गया है जिसे देखने पर अमूल की तरह ही दिखाई देता है जिससे लोग भ्रम पालकर अमूल घी समझकर खरीद लेते हैं और अमूल से थोड़ा सस्ता करके बेचा जा रहा है लेकिन यह भी मात्र 330 किलो की खरीद का है जिससे साफ पता चलता है कि यह घी नकली हो सकता है क्योंकि 330 रुपए किलो में शुद्ध घी नही मिल सकता है।
कार्यवाही अभी जारी है, पूरी खबर कार्यवाही के बाद प्रकाशित की जायेगी।