चीन में आतंक मचा रहा है कोरोना, सारे अस्पताल फुल है, शवदाह गृह में जगह नहीं - Maheka Sansar

चीन में आतंक मचा रहा है कोरोना, सारे अस्पताल फुल है, शवदाह गृह में जगह नहीं

इम्तियाज अहमद/दैनिक महका संसार

वर्ष 2023 में दस लाख मौत होने की आशंका, अप्रैल में होगा पीक

भारत में भी सावधानी बरतने की जरुरत

भारत को सावधान रहने की जरूरत है पहले भी कोरोना वायरस चीन से होकर भारत पहुंचा और यहां पर लाखों लोगों की जान ले ली केंद्र सरकार को अभी से इसके लिए कदम उठाने चाहिए। फ्लाइटों को कुछ दिनों के लिए रोक देना चाहिए। ताकि कोरोना का संक्रमण भारत में ना फैले।

नई दिल्ली/ जिस चीन को कोरोना का उत्पादक कहा जाता रहा है वही चीन आज कोरोना से जंग लड़ रहा है बताया जा रहा है कि चीन इसके आंकड़े विश्व समुदाय से छुपा रहा है जबकि हकीकत ये है कि वहां हालत बेकाबू हो चुके है।

रिपोर्ट के अनुसार चीन में दवाइयों की दुकानों पर दवाइयां खत्म हो चुकी है, टेस्टिंग किट्स खत्म हो चुके है,अस्पतालों में डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ की कमी हो गई है, अस्पतालों में मेडिकल स्टाफ खुद संक्रमित होने के बावजूद काम कर रहा है, अस्थाई स्वास्थ्य केंद्र और आईसीयू बनाने पड़ रहे है संघाई के अस्पतालो में ढाई लाख अस्थाई बेड लगाए गए है

दैनिक महका संसार की गहन जांच के अनुसार सातों दिन चौबीसों घंटे अंतिम संस्कार चालू है मुर्दाघरों में शव रखने की जगह ही नही है

ये है वो आंकड़े जो जिसके आपको सोचने पर मजबूर कर देंगे

चौबीसों घंटे शवदाह गृह चालू है फिर भी हजारों शव जलने के इंतजार में लाइन में है एक वायरल विडियो के अनुसार शवदाह गृह के बाहर निजी गाड़ियों की लंबी लाइन लगी है जिसमे शव रखे है वही बीजिंग के जिले के शव दाह गृह के बाहर एक नोटिस लगाया गया है जिसमे लिखा है कि यहां सिर्फ उन लोगों के शवों की अंत्येष्टि अपॉइंटमेंट से होगी जो टाउंग झोंग में रहते हैं या अस्पताल में मरे हैं जिन लोगों की मौत अस्पताल में नहीं हुई है या वह टोंग झोऊं के रहने वाले नहीं है ऐसे सिर्फ 20 लोगों के शवों का अंतिम संस्कार होगा।

अंतिम संस्कार के लिए जगह नहीं मिल रही है लोग शव सड़क पर छोड़कर जा रहे है वही शवदाह गृह के सभी फ्रीजर भी भरे पड़े है लोग मर रहे है लेकिन चीन आंकड़े बाहर नही आने दे रहा है इतनी मौत हो रही है और चीन ने सोमवार को दो मौत होना स्वीकार किया है अस्पताल में जगह नहीं है लोग बैठे बैठे ऑक्सीजन ले रहे है नर्क जैसे हालात हो चुके है।

अब आगे क्या होने वाला है चीन में

अमेरिका की एक रिपोर्ट ने अनुमान लगाया है कि चीन में हालात और खराब होंगे चीन में वर्ष 2023 में दस लाख मौत होने का अनुमान लगाया गया है चीन में कोरोना का अप्रैल माह में जबरदस्त पीक आएगा अप्रैल तक लगभग तीन लाख से ज्यादा मौत होने की आशंका भी जताई गई है वही यह भी अनुमान है कि अप्रैल 2023 तक चीन की एक तिहाई जनसंख्या कोरोना संक्रमित हो चुकी होगी अमेरिका की एक एजेंसी ने अनुमान लगाने के लिए हांगकांग के माहौल को देखकर चीन का अनुमान लगाया है चीन ने अपने आंकड़े विश्व समुदाय से छुपाए हैं लेकिन हांगकांग की स्थिति सबके सामने यही हाल चीन के भी है वैसे तो चीन अपने इस तरह के विडियो बाहर नहीं आने देता है लेकिन अब जो विडियो वायरल हो रहे हैं यह पूरे विश्व में चिंता बढ़ाने वाले हैं।

BF.7 वैरिएंट मचा रहा कहर

चीन में कोविड का जो वैरिएंट कहर बरपा रहा है, उसका नाम BF.7 बताया जाता है। यह BA.5 का एक सबवेरिएंट, जो ओमिक्रॉन के सबसे व्यापक रूप से फैलने वाले सब वैरिएंट में से एक है।
महामारी विशेषज्ञ एरिक फेगल-डिंग ने अपने ट्वीट्स की सीरीज में थर्मोन्यूक्लियर बैड (THERMONUCLEAR BAD) शब्‍द का इस्‍तेमाल किया है। इसका मतलब है कि चीन में अस्पतालों की व्‍यवस्‍थाएं पूरी तरह से चरमरा गई हैं। अगले 90 दिनों में चीन के 60 फीसदी और पृथ्वी की 10 फीसदी आबादी के संक्रमित होने की संभावना है। कई लाख मौतें हो सकती हैं और यह शुरुआत है। अपने ट्वीट्स में एरिक ने चीन में कोविड की स्थिति, अंतिम संस्कार के मामलों में अप्रत्‍याशित बढ़ोतरी और मुर्दाघरों में उमड़ रही भीड़ के बारे में बात की है। उन्‍होंने बताया है कि जो स्थिति है, वह छुपाई जा रही है। मौतों की संख्‍या को कम रिपोर्ट किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *