आयुष मंत्रालय ऑस्‍ट्रेलिया में खोलने जा रहा एकेडमिक चेयर, आयुर्वेद की कर सकेंगे पढ़ाई

नई दिल्‍ली. आयुष मंत्रालय (Ministry of Ayush) ने वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया में आयुर्वेदिक विज्ञान में शैक्षणिक पीठ (एकेडमिक चेयर) स्थापित करने की घोषणा की है. वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी के एनआईसीएम हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट में तीन वर्ष की अवधि के लिए आयुर्वेद शैक्षणिक (Academic Chair) की स्थापना की जाएगी. जिसके अकादमिक पीठ के रूप में अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (AIIA), नई दिल्ली के एसोसिएट प्रोफेसर और प्रमुख डॉ. राजगोपाला एस. को नियुक्‍त किया गया है.

आयुष मंत्रालय में सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने पश्चिमी सिडनी विश्वविद्यालय (Western Sydney University) के कुलपति एवं अध्यक्ष प्रोफेसर बार्नी ग्लोवर और अन्य के नेतृत्व में ऑस्ट्रेलियाई प्रतिनिधिमंडल से भेंट की. इस अवसर पर कोटेचा ने कहा, ‘यह एक अच्छा कदम है और मुझे विश्‍वास है कि यह पीठ ऑस्ट्रेलिया में अकादमिक और सहयोगी अनुसंधान गतिविधियों को बढ़ावा देने में भारत के सहयोग को मजबूत करेगी. यह हमारे वैज्ञानिक अभ्यासों के विश्वसनीय साक्ष्य के लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य देखभाल वितरण प्रणाली के साथ इसे एकीकृत करने के लिए अनुसंधान परिणामों के अनुप्रयोगों में भी सहायक होगा.’

वहीं वेस्टर्न सिडनी यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. बार्नी ग्लोवर ने स्वीकार किया कि यह सहयोग पश्चिमी चिकित्सा और आयुर्वेदिक विज्ञान को एक साथ लाने में मदद करेगा. यह अकादमिक पीठ आयुर्वेद (Ayurveda) में शैक्षणिक और सहयोगी अनुसंधान गतिविधियों का संचालन करेगा, जिसमें वानस्पतिक औषधियों एवं योग के साथ ही अकादमिक मानकों और छोटी अवधि या मध्यम अवधि के पाठ्यक्रम और शैक्षिक दिशानिर्देश भी शामिल हैं. यह मजबूत ऑस्ट्रेलियाई नियामक ढांचे के भीतर, आयुर्वेद से संबंधित शिक्षण, अनुसंधान और नीति विकास में बेहतरी लाने और उसे बढ़ावा देने में अकादमिक नेतृत्व प्रदान करेगा साथ ही पारंपरिक स्वास्थ्य देखभाल में साक्ष्य आधारित आयुर्वेद औषधियों के प्रयोगों और एकीकरण को बढ़ावा देने के लिए रणनीति विकसित करेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *