3400 लीटर से अधिक घी को सीज किया, झुंझुनू में सप्लाई हो रहा था मिलावटी घी

महका संसार लगातार कर रहा है आपको सतर्क, हम सरकार के इस अभियान के साथ है और मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा द्वारा मिलावटियो पर शिकंजा कसने के अभियान को आप भी सफल बनाएं, जागरुक बने, मिलावट की सूचना सरकार को दे

सीकर। राज्य सरकार द्वारा चला रहे अभियान के तहत फूड सेफ्टी डिपार्मेंट की ओर से लगातार खाद्य सामग्रियों की जांच की जा रही है। इसी कड़ी में फूड एंड सेफ्टी डिपार्टमेंट ने कार्रवाई करते हुए पलसाना, रिंग्स व नवलगढ़ में 3400 लीटर से अधिक मिलावटी घी को पकड़ा है। विभाग की ओर से नकली घी के सैंपल लैब में जांच के लिए भेजे गए हैं रिपोर्ट आने के बाद मिलावट खोरी करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी खाद्य सुरक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक डॉक्टर सत्यनारायण धौलपुरिया ने बताया कि पिछले कई दिनों से पलसाना, रिंग्स व नवलगढ़ में इस तरह का मिलावटी की बेचे जाने की सूचनाए मिल रही थी जिसके आधार पर डिपार्टमेंट की ओर से आज कार्यवाही की गई है फूड सेफ्टी की टीम ने पलसाना में सांवरलाल/ बजरंगलाल की फर्म पर कार्यवाही करते हुए 3400 लीटर डेयरी नाइस नामक ब्रांड के मिलावटी घी को सीज किया है वही रिंग्स में रिद्धि सिद्धि किराना स्टोर से 25 लीटर व नवलगढ़ में लक्ष्मी ट्रेडिंग कंपनी से 66 लीटर मिलावटी की पकड़ा है। सीएमएचओ डॉक्टर निर्मल सिंह ने बताया कि तीनों सप्लायर बड़े स्तर पर शेखावाटी में मिलावटी घी की सप्लाई करते थे एवं एक्सपर्ट के अनुसार घी में 100% मिल्क फैट होना चाहिए लेकिन इस घी में सप्लायर मिलावट कर बाजार में सस्ते दामों में बेचते थे मिलावटी घी बेचकर सप्लायर आम जनता की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे थे, और मोटा मुनाफा कमा रहे थे लेकिन विभाग ने लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ करने वालों पर शिकंजा कस दिया है और इसी तरह आगे भी विभाग के कार्यवाही जारी रहेगी।