अब बीकानेर के पापड़ भी निकले मिलावटी, स्वास्थ्य विभाग ने 1980 किलो पापड़ किए सीज

दैनिक महका संसार एक मात्र ऐसा समाचार पत्र है जो पूरे भारत की मिलावट से संबंधित हर खबर को प्रमुखता से प्रकाशित करता है, हम ना तो किसी की खबर छुपाते है और ना ही किसी का समर्थन करते है और ना ही किसी का विरोध, जनता के स्वास्थ्य से खिलवाड़ करने वालो को हम बख्शने वाले नही है 

किसी भी तरह की ऐसी खबर और सहायता के लिए हमसे संपर्क करे।

इम्तियाज अहमद, 9799921111

 

बीकानेर। पापड़ का नाम सुनते ही सभी के मुंह में पानी आ जाता है वही पापड़ के निर्माता के रूप में विश्व विख्यात बीकानेर में भी पापड़ बनाने में गड़बड़ी करने वालों पर बीकानेर चिकित्सा विभाग ने बड़ी कार्यवाही की है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की एक टीम ने एक फैक्ट्री का निरीक्षण किया तो वहां जरूरत से ज्यादा फूड कलर डालने का मामला सामने आया और लगभग 1980 किलो पापड़ विभाग ने सीज कर दिए।

प्रदेश सरकार मिलावट को लेकर लगातार अभियान चला रही है शुद्ध आहार मिलावट पर वार अभियान के तहत बीकानेर जिले के खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा में मेसर्स सुविधा पापड़ जो कि करनी इंडस्ट्रियल एरिया पर स्थित है वहां जाकर फैक्ट्री का निरीक्षण किया और नमूने भी लिए।

बीकानेर सीएमएचओ डॉ राजेश गुप्ता ने दैनिक महका संसार को बताया कि मेसर्स सुविधा पापड़ पर निरीक्षण के दौरान दो तरह के गोल पापड़ तैयार किया जा रहे थे एक बिना रंग के तथा दूसरे में जरूर से अधिक फुड कलर काम में लिया जा रहा था जो सेहत के लिए बहुत खतरनाक है। यहां से रंगीन गोल पापड़ के दो नमूने लिए गए हैं नमूने लेने के बाद 1980 किलोग्राम रंगीन गोल पापड़ को मौके पर ही सीज किया गया।

सभी नमूनों को जांच के लिए जन स्वास्थ्य प्रयोगशाला भिजवाया जाएगा जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। वहीं फैक्ट्री का निरीक्षण करने के दौरान मौके पर पेस्ट कंट्रोल रिपोर्ट, पानी की जांच रिपोर्ट तथा फूड हैंडलर्स का मेडिकल नहीं था। इस कार्यवाही में भानु प्रताप सिंह तथा सरवन शर्मा शामिल रहे।