खाद्य विभाग ने मारा छापा, घी-तेल के छह सैंपल में से चार फेल, टीम ने नाली में गिराकर नष्ट किया स्टॉक

खाद्य विभाग के जब्त किए गए माल की सैंपल जांच में अमृत गाय का घी, ज्योति किरण सरसों तेल, कबीरा कच्ची घानी तेल, सरस घी सब स्टैंडर्ड पाया गया

दौसा। लगातार खाद्य पदार्थों में आ रही मिलावट की सूचना पर मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सीताराम मीणा ने मंडी रोड पर छापा मारा। रमेश चंद, सुरेश चंद फर्म पर अचानक धावा बोलकर कार्रवाई की गई। इस दौरान फर्म में अनियमिताएं पाई गईं।

टीम को यहां मिलावट और एक्सपायर डेट का स्टॉक मिला। टीम ने छह पदार्थों के सैंपल लिए गए। इनमें से चार सैंपल अमृत गाय का घी, ज्योति किरण सरसों तेल, कबीरा कच्ची घानी तेल, सरस घी सब स्टैंडर्ड पाया गया। इनके सैंपल लेकर आगे भेज दिए गए हैं। यहां जांच के दौरान टीम को कोरोना काल का भी तेल मिला है। सीएमएचओ ने दुकानदार को कड़ी फटकार लगाते हुए पूरे स्टॉक को नाली में खाली कराकर नष्ट करा दिया।

अचानक हुई कार्रवाई से व्यापारियों में हड़कंप मच गया। सीएमएचओ डॉक्टर सीताराम मीणा ने मौके पर ही जांच के लिए लेबोरेट्री वैन को बुलाकर सभी के सैंपल लिए गए। बड़ी मात्रा में सैंपल फेल हो गए। मिलावटी सामान बेचकर लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। डॉक्टर सीताराम मीणा ने कहा कि ये कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। किसी भी कीमत पर लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। सबसे बड़ी बात ये है कि आईएसआई मार्का वाले पदार्थ के सैंपल भी सब स्टैंडर्ड मिले हैं, जिनमें सरस घी भी शामिल है।