मदर डेयरी के नाम पर भ्रमित कर बना रहे थे नकली दूध, कई केमिकल बरामद

शिकारपुर। खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने शनिवार को शिकारपुर के गांव उटरावली में मदर डेयरी के कलेक्शन प्वाइंट की आड़ में नकली दूध बनाने का भंडाफोड़ किया है। टीम ने मौके से एक आरोपी को नकली दूध बनाते रंगे हाथ पकड़ा लिया। मौके से 50 किलो नकली दूध, करीब तीन क्विंटल केमिकल, तीन टिन रिफाइंड और एक बाल्टी में खुला हुआ केमिकल बरामद किया है। फिलहाल टीम ने सामान जब्त करते हुए मौके से केमिकल, नकदी दूध, पाउडर के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे हैं।

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन के सहायक आयुक्त विनीत कुमार को सूचना मिली थी कि शिकारपुर क्षेत्र के गांव उटरावली में नकली दूध बनाने का काम चल रहा है। टीम ने मौके पर पहुंचकर गांव निवासी कोमल प्रसाद के दूध कलेक्शन प्वाइंट पर जांच की तो पाया कि मौके पर नकली दूध बनाया जा रहा है। टीम ने मौके से नकदी दूध बनाने के लिए रखे बाल्टी में भरे एक केमिकल, 50 किलो नकली दूध, तीन क्विंटल सॉर्बिटॉल केमिकल, 15 कट्टे वे पाउडर के बरामद किए। जांच के दौरान टीम को पता चला कि आरोपी द्वारा मदर डेयरी का कलेक्शन प्वाइंट भी ले रखा है और गांव के लोगों से दूध खरीदकर मदर डेयरी को सप्लाई किया जाता था। इसके लिए आरोपी ने प्लांट में चिलिंग प्वाइंट भी बना रखा था और चिलिंग प्वाइंटर की ओट से ही नकली दूध बनाने का कारोबार चल रहा था। अधिकारियों ने संभावना जताई है कि आरोपी द्वारा नकली दूध को असली दूध में मिलाकर मदर डेयरी को भी सप्लाई किया। हालांकि मदर डेयरी के अधिकारियों ने खाद्य विभाग के अधिकारियों को बताया कि सेंटर से प्राप्त किए गए दूध की जांच कराई जाती है। जिसके चलते मिलावटी दूध डेयरी को सप्लाई किया जाना संभव नहीं है। हालांकि अधिकारियों की पूछताछ में आरोपी ने कुछ भी नहीं बताया। जिसके बाद टीम ने मौके से दूध, केमिकल, रिफाइंड के नमूने लेकर जांच के लिए भेजे हैं।