अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाही पवन ब्रांड सरसो तेल का 53000 लीटर स्टॉक को किया सीज

खाद्य सुरक्षा अतिरिक्त आयुक्त पंकज ओझा के नेतृत्व में एक और बड़े कार्यवाही, लगातार हो रहीं कार्यवाही से जनता में जगा सरकार के प्रति विश्वास

जयपुर। मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा और चिकित्सा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर के निर्देश पर चलाए जा रहे शुद्ध आहार मिलावट पर वार अभियान के तहत मंगलवार को खाद्य सुरक्षा विभाग के आयुक्त इकबाल खान के निर्देशन और अतिरिक्त खाद्य सुरक्षा आयुक्त पंकज ओझा के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा विभाग की एक टीम ने झोटवाड़ा इंडस्ट्रियल एरिया स्थित तिरुपति आयल इंडस्ट्री के पवन ऑयल ब्रांड की फैक्ट्री पर छापा मारा गया। इसमें 53000 लीटर सरसों का अमानत खाद्य तेल होने की आशंका पर इसे सीज किया गया है। यह इस अभियान के दौरान की सबसे बड़ी ककार्यवाहियों में से एक है।

विशेष बात यह भी है कि इस कार्यवाही से पहले विभाग द्वारा 3 -4 प्रतिष्ठित कंपनियों के सरसों तेल के सैंपल लेकर भी यह एक जांच अपने स्तर पर करवाई गई थी जिसमें इसका नमूना फेल हुआ था। इसी परिप्रेक्ष्य में आज अमानक पाए जाने पर झोटवाड़ा इंडस्ट्रियल एरिया स्थित परिसर में 53000 लीटर सरसों का पवन ऑयल ब्रांड तेल का स्टॉक सीज किया गया है, और सैंपल लेकर विभागीय लेबोरेटरी में जांच के लिए भेजा जा रहा है। कार्रवाई दल में खाद्य सुरक्षा अधिकारी रतन गोदारा, पवन गुप्ता, नरेश शर्मा, नरेश चेजारा उपस्थित रहे एवं समस्त कार्रवाई अंजाम दी गई।।

सस्ता तेल मिले होने की आशंका

अतिरिक्त खाद्य आयुक्त पंकज ओझा ने बताया कि सरसो का तेल महंगा होता है और प्रथम दृष्टया जांच करने पर शक है कि इस सरसो के तेल में राइस ब्रान तेल मिला हो सकता है बाजार में इस तरह का तेल नही बिके और लोगो के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ ना हो। इसलिए जांच रिपोर्ट आने तक इस तेल को सीज किया गया है